Wednesday, 21 September 2016

"Maximizing IVF success rates with Blastocyst Culture and Transfer!"

 ब्लास्टोसिस्ट कल्चर व् ट्रान्सफर




ब्लास्टोसिस्ट कल्चर व् ट्रान्सफर में हाल ही में हुए विकास के फलस्वरूप आई वीं एफ द्वारा गर्भाधान की दरों में सुधार तथा एक साथ कई गर्भाधान की दरो में कमी आई है | 

परंपरागत रूप से भ्रूणों को गर्भाशय में निषेचन के बाद तीसरे दिन स्थापित किया जाता था | सामान्यतः इन भ्रूणों की संख्या तीन से चार होती थी | अब भ्रूणों को प्रयोगशाला में ब्लास्टोसिस्ट चरण तक विकसित करना संभव है जो की निषेचन के पाँचवे दिन होता है, जब भ्रूण में 50-500 कोशिकाएँ होती है | आम तौर पर सबसे स्वस्थ भ्रूण ही ब्लास्टोसिस्ट चरण तक पहुँच पाते है क्योंकि वे ही मुख्य विकास तथा विभाजन की प्रक्रियाओं तक जीवित बच पाते है तथा एक बार ट्रांसफर होने के बाद इन्ही के सबसे ज्यादा विकसित होने के अवसर रहते है | और एक साथ कई गर्भ ठहरने का खतरा कम हो जाता है ( अधिक बेहतरीन भ्रूणों का चयन होने से एक या दो भ्रूणों को ट्रांसफर करने से भी गर्भावस्था के अवसर बढ़ जाते है |

भ्रूणों का सहज प्राकृतिक विकास उनके बढ़ने व् विभाजित होने की क्षमता निर्धारित करता है । कुछ अण्डे शुरुआत में निषेचित हो जाते है, उनमें से कुछ दूसरे दिन four cell stage तक पहुँच पाते है, तो कुछ तीसरे दिन आठवे चरण तक, और उनमें से भी कुछ ही ब्लास्टोसिस्ट चरण तक विकसित हो पाते है । सरल भाषा में देखें तो इसे सबसे योग्यतम का बचे रहना कहा जा सकता है । अमुमम 30 प्रतिशत भ्रूण ही ब्लास्टोसिस्ट तक पहुँच पाते है ।

 

 ब्लास्टोसिस्ट कल्चर के लिए मिडिया का प्रयोग होता है ,यह जीवन को बनाये रखने वाले पोषक तत्वों से पूर्ण होता है, एवम् अनुभवी एम्बरयोलॉजिस्ट की देखरेख में प्रतिदिन भ्रूण को उनके विकास के अनुसार पृथक् मिडिया की प्लेट में बदला जाता है ।

आई वि एफ के साथ ब्लास्टोसिस्ट ट्रांसफर के लाभ :


1. रिसर्च के अनुसार ब्लास्टोसिस्ट कल्चर एवम् ट्रांसफर से टेस्ट टयुब बेबी रिजल्ट में अहम बढ़ोतरी हुई है ।

2.ब्लास्टोसिस्ट कल्चर व् ट्रांसफर का मुख्य लाभ है एक साथ कई गर्भ ठहरने से रोकना जो क़ि आई वी एफ के परिणाम स्वरूप होते है । इसका अर्थ है कि एक साथ कई गर्भ ठहरने से प्रसूति में जो जटिलताएँ उत्त्पन्न होती हे, कम हो जाती है ।

3. कई बार टेस्ट ट्युब बेबी प्रक्रिया में लाभान्वित नही हुए दंपत्ति एवम् अधिक उम्र की महिलाओं जिनमे बच्चेदानी की स्थिति अच्छी नही है उनमे ब्लास्टोसिस्ट के परिणाम बहुत उत्साह जनक है ।

4. self egg (सवयं के अण्डे) वाले मरीज जिनको दो या अधिक प्रेगनेंसी की वजह से OHSS का खतरा रहता है वो भी एक या दो ब्लास्टोसिस्ट ट्रांसफर से खत्म हो जाता है ।

विज्ञानं के क्षेत्र में निरंतर हुए बदलाव व् सुधार से निःसंतानता दम्पतियों को अब काफी अवसर प्राप्त है। ब्लास्टोसिस्ट कल्चर इस क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण कदम है ।

No comments:

Post a Comment